scorecardresearch
 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अयोध्या में भारत की आगे की ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए 'विकास' और 'विरासत' को एक साथ लेकर चलने की बात की।

उन्होंने विकास और धार्मिक राष्ट्रवाद के संज्ञानयोजन को मिलाकर देश को मजबूत करने का संकल्प दिखाया। प्रधानमंत्री ने लोगों से अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन को एक राष्ट्रीय घटना के रूप में मनाने और भीड़ से बचने के लिए बाद में मंदिर जाने की योजना बनाने का आग्रह किया।

Advertisement
X
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अयोध्या
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अयोध्या में भारत की आगे की ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए 'विकास' और 'विरासत' को एक साथ लेकर चलने की बात की।

मोदी ने 'स्वच्छता अभियान' को बढ़ावा देने का आह्वान किया और मंदिरों से स्वच्छता अभियान चलाने की पुनरागाह की। उन्होंने सांस्कृतिक विरासत की सुरक्षा को महत्वपूर्ण बताया और देशवासियों से इसे सजीव रखने की जिम्मेदारी लेने का आग्रह किया।

अयोध्या में, मोदी ने विकास और धार्मिक भावनाओं के संगम पर बातचीत करते हुए कहा कि 'विकास' और 'विरासत' दोनों ही हमारे देश को एक नए युग में अग्रणी बनाएंगे। उन्होंने लोगों को यह कहते हुए मोतीवेशन दिया कि वे 22 जनवरी, 2024 को अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन को एक राष्ट्रीय अवसर के रूप में मनाएं और सुनिश्चित करें कि देश भर में एक साथ दिवाली का जोरूर हो। उन्होंने बचाव के लिए बाद में मंदिर जाने की योजना बनाने की भी पुनरागाह की।

Advertisement

मोदी ने नवनिर्मित महर्षि वाल्मिकी हवाई अड्डे का उद्घाटन करते हुए और 46 विकासात्मक परियोजनाओं की नींव रखते हुए अयोध्या के लोगों से पर्यटकों की भारी आमद के लिए तैयार रहने का आह्वान किया। उन्होंने अयोध्या को स्वच्छता में मोदल शहर बनाने के लिए भी कहा और देश भर के मंदिरों से मकर संक्रांति से लेकर स्वच्छता अभियान चलाने की अपील की।

साथ ही, उन्होंने विभिन्न शहरों को जोड़ने वाली छह वंदे भारत और दो अमृत भारत ट्रेनों को भी हरी झंडी दिखाई और देश को एक मजबूत और समृद्धिशील भविष्य की दिशा में कदम बढ़ाने का संकल्प किया।

Advertisement