scorecardresearch
 

बिहार न्यूज़ : नीतीश जी ने रास्ता को ब्लॉक करना नहीं चाहता है वाराणसी में रैली रद्द होने पर पूरी बाते जाने क्या हुआ

पटना: बिहार के सीएम नीतीश कुमार की 24 दिसंबर को वाराणसी में प्रस्तावित रैली रद्द होने के बात सूबे में सियासी संग्राम छिड़ गया है। जेडीयू का आरोप है कि नीतीश से डर कर ऊपरी दबाव में प्रशासन ने रैली के लिए जगह नहीं दी। जगह नहीं मिल पाने की वजह से रैली रद्द होने की पहली जानकारी मंत्री श्रवण कुमार ने दी थी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के रोहनिया विधानसभा क्षेत्र में नीतीश कुमार की जनसभा प्रस्तावित थी। प्रशासन ने जगह नहीं दी। रैली की अगली तारीख का ऐलान जल्द ही किया जाएगा। हालांकि पुख्ता सूचना के मुताबिक रैली रद्द होने की वजह दूसरी है।.

Advertisement
X
बिहार न्यूज़
बिहार न्यूज़ : नीतीश जी ने रास्ता को ब्लॉक करना नहीं चाहता है वाराणसी में रैली रद्द होने पर पूरी बाते जाने क्या हुआ

बिहार न्यूज़ : नीतीश जी ने रास्ता को ब्लॉक करना नहीं चाहता है वाराणसी में रैली रद्द होने पर पूरी बाते जाने क्या हुआ

बिहार सरकार में जेडीयू कोटे के मंत्री श्रवण कुमार ने आरोप लगाया है कि यूपी सरकार के दबाव में जिस इंटर कॉलेज के ग्राउंड में रैली होनी थी, उस कॉलेज के प्रबंधक ने ग्राउंड देने से मना कर दिया। श्रवण कुमार ने कहा- 'उत्तर प्रदेश में लोकतंत्र बिल्कुल समाप्त हो गया है। हम लोगों ने लोकतंत्र और संविधान को बचाने के लिए वहां रैली आयोजित करने का फैसला किया था। जिस इंटर कॉलेज में हम लोगों को मीटिंग करनी थी, वहां के प्रबंधक को धमकाया गया। प्रबंधक ने कॉलेज ग्राउंड देने से मना कर दिया।.

दो मंत्रियों के अलग-अलग तरह के बयान

आश्चर्य यह कि बिहार सरकार में जेडीयू कोटे के दो मंत्रियों के इस मुद्दे पर आए बयान आपस में मेल नहीं खाते। दोनों के बयान से अलग-अलग संदेश निकल रहे हैं। श्रवण कुमार रैली रद्द होने का ठीकरा यूपी की भाजपा सरकार के सिर फोड़ना चाहते हैं। इसका जेडीयू सियासी लाभ लेना चाहता है। बिहार के ही एक मंत्री जमा खान की बातें श्रवण कुमार के आरोप से मेल नहीं खातीं। जमा खान ने अपने कार्यकर्ताओं के नाम संदेश जारी किया है। उसमें बताया गया है कि नीतीश कुमार का 24 दिसंबर को वाराणसी के रोहनिया में होने वाला कार्यक्रम ‘किसी वजह’ से स्थगित हो गया है। जल्द ही अगली तारीख घोषित होगी।."

Advertisement

सच कुछ और, जेडीयू ने ही टाला प्रोग्रामजेडीयू की उत्तर प्रदेश इकाई के एक बड़े पदधारी ने रैली को लेकर लगाए जा रहे आरोपों को सिरे से खारिज किया। नाम न उजागर करने की शर्त पर उन्होंने जो जानकारी दी, वह चौंकाने वाली है। बीजेपी को हर बात में निशाने पर लेने वाले जेडीयू नेताओं की यह जानकारी असलियत भी खोलती है। सच यह है कि नीतीश कुमार की ओर से ही रैली स्थगित की गई है। उन्होंने बताया कि नीतीश की उस दिन दूसरे कार्यक्रम तय हैं, इसलिए रैली टाली गई है। राज्य सरकार के दबाव में जगह नहीं मिल पाने की बात को उन्होंने गलत बताया।.

Advertisement