पूर्व फौजी ने खाया ज़हर, आधी कैबिनेट हिरासत में

सोमवार से जंतर-मंतर पर अपने कुछ साथियों के साथ प्रोटेस्ट कर रहे पूर्व सूबेदार रामकिशन ग्रेवाल ने वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर सुसाइड कर लिया। परिवार के लोगों का कहना है कि रामकिशन डिफेंस मिनिस्टर मनोहर पर्रिकर से मिलने जा रहे थे, उसी दौरान रास्ते में उन्होंने जहर खा लिया। उन्हें आरएमएल हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। हॉस्पिटल के बाहर जमकर हंगामा हुआ। पूर्व फौजी की फैमिली से मिलने पहुंचे राहुल गांधी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसोदिया समेत दिल्ली की आधी कैबिनेट को भी हिरासत में ले लिया गया। आप और कांग्रेस के कुल 12 बड़े नेता डिटेन गए, बाद में कई रिहा कर दिए गए। पुलिस ने रामकिशन के घर के कुछ मेंबर्स को भी हिरासत में लिया। केंद्र सरकार वन रैंक वन पेंशन लागू कर चुकी है, लेकिन कुछ सैनिकों की नजर में इसमें अभी कई खामियां हैं। दिल्ली में सीएम समेत 6 मंत्री हैं। इनमें से तीन यानी खुद केजरीवाल, सिसोदिया और गोपाल राय हिरासत में लिए गए। यानी आधी कैबिनेट दिल्ली पुलिस की हिरासत में आ गई। दिल्ली पुलिस के अफसर एसीबी चीफ एमएल मीणा ने कहा, ”हॉस्पिटल धरने की जगह नहीं है। यहां किसी को प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी जा सकती। एसीबी चीफ मीणा ने कहा, ”रामकिशन के परिवार वालों को बता दिया गया था कि आरएमएल में पोस्टमार्टम नहीं होगा। फिर भी वे यहीं रहे। उन्होंने नेताओं से बातचीत शुरू कर दी। इसलिए, उन्हें हिरासत में लिया गया।” ”हॉस्पिटल में मरीज इलाज के लिए आते हैं। आप नेता यहां आकर डिस्टर्ब कर रहे थे, इसलिए उन्हें भी हिरासत में लिया गया।” ”कांग्रेस नेता राहुल गांधी को भी हॉस्पिटल के अंदर नहीं जाने की सलाह दी गई। फिर भी उन्होंने जाने की कोशिश की। इसलिए उन्हें कस्टडी में लिया गया।”

mariah carey without makeup