ट्रंप के ट्वीट पर बौखलाए चीन

रविवार को नॉर्थ कोरिया के खिलाफ चीन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होने पर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कड़ी नाराजगी जताई। और ट्वीट करके कहा कि चीन से बेहद निराश हैं, हमारे पिछले नेताओं ने व्यापार में चीन को छूट दी है, लेकिन फिर उसने नॉर्थ कोरिया के मामले में यूएस के लिए कुछ नहीं किया। चीन की ओर से अमेरिका के राष्ट्रपति के लिए कहा गया है कि वे नॉर्थ कोरिया पर कभी हमला नहीं कर सकते, साथ ही ट्वीट कर देने से कोई हल नहीं निकलेगा। उत्तर कोरिया की ओर से लगातार किए जा रहे परमाणु परिक्षण से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बहस छिड़ गई है।

चीनी मीडिया की ओर से एक ऑर्टिकल में ट्रंप की ओर से की गई नाराजगी पर प्रतिक्रिया दी गई है। नॉर्थ कोरिया के खिलाफ कार्रवाई पर लेख में कहा गया कि चीन ने न्यूक्लियर परिक्षणों के चलते उसपर दबाव बनाया है। इसकी कीमत उसे दोनों देशों के व्यापार पर भी चुकानी पड़ी है। और कहा कि ये कहने की बात है कि चीन, नॉर्थ कोरिया के खिलाफ आसानी से कार्रवाई कर सकता है। ये बयान सिर्फ एक नौसिखिया राष्ट्रपति ही दे सकता है। लेख के मुताबिक नॉर्थ कोरिया अपने न्यूक्लियर परिक्षणों को लेकर काफी गंभीर है और उसे रोकना आसान नहीं है।

उत्तर कोरिया की ओर से किए गए इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण के बाद अमेरिका ने कड़ी प्रतिक्रिया जताई। अमेरिकी एयरफोर्स की ओर से रविवार को एक बयान जारी किया, जिसमें कहा गया कि उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के बाद दो बी-1बी लड़ाकू विमान ने कोरियन प्रायद्वीप के ऊपर से उड़ान भरी।

उत्तर कोरिया ने शुक्रवार को मिसाइल परीक्षण किया और कहा कि मिसाइल की रेंज में अमेरिका के कई शहर आते हैं। जिसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की थी। अमेरिकी एयरफोर्स के बयान के अनुसार, लड़ाकू विमान ने अमेरिकी एयरबेस गुआम से उड़ान भरी।

अमेरिका और अंतरराष्ट्रीय दबावों को ताक पर रख उत्तर कोरिया ने मिसाइल परीक्षण जारी रखा है। इससे पहले 4 जुलाई को भी उत्तर कोरिया ने अपना पहला इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था।

mariah carey without makeup