सनी लियोनी की फिल्म मस्तीजादे’ पर सेंसर बोर्ड की कैंची न चलने से निर्देशक मिलाफ खुश

बॉलीवुड की बोल्ड एक्ट्रेस सनी लियोनी की फिल्म ‘मस्तीजादे’ पर सेंसर बोर्ड की कैंची नहीं चली है इसकी वजह हो सकती है हाल ही में हॉलीवुड की मशहूर जेम्स बॉन्ड सीरीज की 24वीं फिल्म ‘स्पेक्टर’ के किसिंग सीन पर कैंची चलने के बाद सोशल मीडिया पर सेंसर बोर्ड की काफी आलोचना हुई थी। ऐसा कहा खुद फिल्म के डायरेक्टर मिलाफ जावेरी ने। फिल्म ‘मस्तीजादे’ के निर्देशक मिलाफ जावेरी खुश हैं कि सेंसर बोर्ड ने इस पर कैंची नहीं चलाई। मिलाप ने कहा, “इसमें ऐसा कोई सीन नहीं है, जिसे सेंसर बोर्ड के सदस्यों ने काटा हो। मैं उनका शुक्रगुजार हूं कि वे समझते हैं कि यह फिल्म अडल्ड के लिए बनी है।”

सुनने में आ था कि फिल्म ‘मस्तीजादे’ को शुरुआत में सेंसर बोर्ड द्वारा प्रमाणपत्र देने से इनकार कर दिया गया था। मिलाप ने कहा कि फिल्म पर सेंसर बोर्ड की कैंची न चलने कारण लोगों को ‘ग्रैंड मस्ती’ जैसी फिल्म पसंद आती है और लोग ऐसी फिल्में देखना चाहते हैं। केवल इतना ही नहीं मिलाप ने कहा, ‘अगर ‘मस्ती’ पर कैंची चली होती, तो इसे बनाने की कोई वजह नहीं होती।’

मई में फिल्म को सेंसर प्रमाणपत्र देने से इनकार कर दिया गया था और इस साल अगस्त में इसे ‘ए’ प्रमाणपत्र दिया गया। फिल्म का टीजर डबल मीनिंग डायलॉग वाला है और इससे पहले इसमें सनी लियोन भी बिकनी में नजर आई थीं। मिलाप ने कहा, “हमने एक्स्ट्रा सीन और वैकल्पिक शूट किया और यह सब फिल्म के प्रोमो में दिख रहा है।” फिल्म में सनी लियोनी डबल रोल में हैं, एक में वह तुषार कपूर और दूसरे में वीर दास के साथ नजर आएंगी।

खैर जो भी हो लेकिन अब देखना ये है कि मिलाफ जावेरी की मेहनत कितना रंग लाती है और सनी लियोनी की फिल्म ‘मस्तीजादे’ बॉक्स ऑफिस पर क्या कारनाम कर पाती है?

mariah carey without makeup