मर्स वायरस से जूझ रहे 2300 मरीज, 23 और नए मामले सामने आए

देश में मर्स वायरस यानी मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम से संक्रमित होने का पहला मामला गत 20 मई को सामने आया था। मर्स वायरस से मरने वाले मरीजों की संख्या में लगातार वृद्वि हो रही है, दक्षिण कोरिया मध्यपूर्व के बाहर के देशों में अब तक का सबसे गंभीर रूप से प्रभावित देश बन चुका है। इस बीमारी से अब तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है। दक्षिण कोरिया के स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जारी एक बयान में बताया गया कि मर्स वायरस के अब तक कुल 87 मामले दर्ज किए गए हैं। मर्स बीमारी के 23 और नए मामले सामने आए हैं। बताया गया कि मर्स संक्रमण के 17 नए मामले राजधानी सिओल के उसी अस्पताल से दर्ज किए गए हैं, जहां इस बीमारी के पहले पीड़ित की पहचान हुई थी। बाकी छह मामले देश के दूसरे भागों से मिले हैं। सभी संक्रमित लोगों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। इस वायरल के कारण दक्षिण कोरिया के करीब 1800 स्कूलों को बंद किया जा चुका है। वहीं इस वायरल से जूझ रहे 2300 मरीजों के लिए अस्पतालों में अलग से वार्ड बनाए गए है। मर्स कोरोना एक ऐसा वायरस है जिसके मरीजों में आमतौर पर बुखार, निमोनिया और खराब किडनी जैसे लक्षण पाए जाते हैं।

mariah carey without makeup